TransLiteral Foundation
Don't follow traditions blindly or don't assume a superstition either.
Don't be intentionally ignorant. Ask us!! Make Informed Religious Decisions!!

हौदसे गयी, तो बुंदसे आती नहीं

बुंदसे गयी० याच्या उलट. ही म्हण चुकीची आहे.

Related Words

अक्कलकी तोती उड गयी   आती   आपने छाचको कोयी खट्टा नहीं कहता   जन्माचे अधिकारी आईबाप, कर्माचा ज्‍याचा तो   जो तो   ढुंगण फाटे पण ढबला नहीं फाटे   तो   धोबीसे जीत नहीं, तो गद्धको क्यौं मारना   नहीं नहीं म्हणस, संत्रजी पसरस   नातेकी रांड, गोदका छोरा, वालूकी भीत और बहमी बोरा ,ये किसीकू निहाल नहीं करते   पथरको जोक नहीं लगती   पथर मारे मौत नहीं   पास नहीं कौडी, आम खरीदने दौडी   फत्तरपर पाणी पडे, भीजे पण भीने नही, मूरखसे गीयान् कहे, बुझे पण रीझे नहीं   बत्तीस दांतकी भाखा खाली नहीं जाती   बुंद-बुंदसे गई वो हौदसे आती नहीं   बुधे भेटी, ने फेरी नहीं भेटी   बनना-बनी तो भाई, नहीं तो दुशमनाई   बनिया-बनिया देते नहीं, पुरा तोल   बात रह जाती है, बखत नहीं रहता   बिन रोयोलडकाभी दूध नहीं पाता   मन मिलेसो मेला, चित्त मिलेसो चेला, नहीं तो अकेला भला   मुया-मुयेपर कोथी किसीके काम आता नहीं   मुरख आगल वात, रिजे पण बुजे नहीं   माली सठयो फुललेशे, कांइ चोटलि तो नहीं लेशे   मिया देता नहीं पुरा तोल   मोठया वार्‍यानें विझतो, अग्नि लहान असतांना तो   रंडी रही तो आपसे, नहीं तो सगे बापसे   रस्सी-रस्सी जलगयी पर बल नहीं गया   लकडी बिगर मकडी नहीं वठणी आती   लातोके भूत (देव) बातोसे नहीं मानते   लांबा साथे तुतो जीयाय, मरे नहीं पण मांदो थाय   लिखना-तकदीरका लिखा, कमी नहीं चूका   विद्वानोको शिंग नहीं, और मुर्खको पुच्छ नहीं   सब मिलना पण लंगोटीयार नहीं मिलना   साच-साचको आंच नहीं   सारा दिवस पिसा पिसा, चपनी भर नहीं आटा   हजरकू हुजत नहीं   होटोंसे अभी, दुधकी बो नहीं गयी   हौसकू मोल नहीं, गद्धेकू अक्कल नहीं   
: Folder : Page : Word/Phrase : Person

Comments | अभिप्राय

Comments written here will be public after appropriate moderation.
Like us on Facebook to send us a private message.

pallial cavity

  • Zool. (mantle cavity) प्रावार गृहिका 
RANDOM WORD

Did you know?

What is the difference between Smarta & Bhagwata Ekadashi?
Category : Hindu - Philosophy
RANDOM QUESTION
Don't follow traditions blindly or ignore them. Don't assume a superstition either. Don't be intentionally ignorant. Ask us!!
Hindu customs are all about Symbolism. Let us tell you the thought behind those traditions.
Make Informed Religious decisions.

Word Search


Input language:

Featured site

Ved - Puran
Ved and Puran in audio format.