Dictionaries | References

व्यश्व

See also :
VYAŚVA , व्यश्व II.
n.  एक ऋषि, जो अश्र्विनों की कृपापात्र व्यक्तियों में से एक था [ऋ. १.११२.१५] । ऋग्वेद के आठवें मंडल के अनेक सूक्तों में इसका निर्देश प्राप्त है, जिनकी रचना संभवतः इसके विश्र्वमनस् वैयश्र्व नामक शिष्य के द्वारा की गयी थी [ऋ. ८.२३.१६, २३, २४.२२, २६.९] । ऋग्वेद में अन्यत्र एक प्राचीन ऋषि के नाते इसका निर्देश प्राप्त है [ऋ. ८.९.१०, ९.६५.७]

Comments | अभिप्राय

Comments written here will be public after appropriate moderation.
Like us on Facebook to send us a private message.