TransLiteral Foundation

n nirala

: Folder : Page : Word/Phrase : Person


Comments | अभिप्राय

Comments written here will be public after appropriate moderation.
Like us on Facebook to send us a private message.

उद्दालक

  • n. एक आचार्य । आपोद धौम्य का शिष्य । एक समय इसे गुरु ने पानी (खेत का )रोकने के लिये कहा; पर इसे पानी को रोकते नहीं बन रहा था । तब इसने खुद ही नीचे सो कर पानी रोका । गुरु को खोज करते समय यह पता लगा । तब उन्होंने आरुणि पांचाल्य का नाम उद्दालक रखा [म.आ.३.२०-२९] । इसे कुशिक की कन्या से श्वेतकेतु और नचिकेतस् दो पुत्र तथा सुजाता नामक पुत्री उत्पन्न हुई । सुजाता कहोल को व्याही गयी थी । इसका पुत्र अष्टावक्र था [म. व.१३२] । एक निपुत्रिक ब्राह्मण ने इसकी स्त्री पुत्रोत्पादनार्थ मांगी । श्वेतकेतु को यह सहन न होने के कारण उसने नियम बनाया कि, स्त्री को केवल एक ही पति होना चाहिये [म. आ.११३] । इस में सत्तासामान्य नामक दिव्यदृष्टि निर्माण हुई थी; इस कारण यह हमेशा समाधिसुख में रहता था । इसका शरीर सूर्य किरणों से शुष्क हो कर यह ब्रह्मरुप हुआ । इसका शव चामुंडा देवी ने खड्‌ग तथा खट्‌वांग में भूषण के समान धारण किया [यो. वा.५.५१-५६]; चंडी देखिये । 
RANDOM WORD

Did you know?

अतिथी व अतिथिसत्कार याचे विशेष महत्व काय?
Category : Hindu - Traditions
RANDOM QUESTION
Don't follow traditions blindly or ignore them. Don't assume a superstition either. Don't be intentionally ignorant. Ask us!!
Hindu customs are all about Symbolism. Let us tell you the thought behind those traditions.
Make Informed Religious decisions.

Featured site