Dictionaries | References

सत्यश्रवस् (वाय्य)

n.  एक ऋषि, जिसका निर्देश उषस् के कृपापात्र व्यक्ति के नाते ऋग्वेद में प्राप्त है [ऋ. ५.७९.२] । ऋग्वेद में अन्यत्र निर्दिष्ट सत्यश्रवस् आत्रेय, एवं सुनीथ शौचद्रथ संभवतः यही होगा । लुडविग के अनुसार, यह सुनीथ शौचद्रथ का पुत्र था [लुडविग ऋग्वेद अनुवाद ३.१५६] । वय्य का वंशज होने से इसे ‘वाय्य’ पैतृकनाम प्राप्त हुआ होगा ।

Comments | अभिप्राय

Comments written here will be public after appropriate moderation.
Like us on Facebook to send us a private message.