Dictionaries | References

सत्यवत् III.

See also :
सत्यवत् , सत्यवत् II.
n.  तेजपूर नगरी का एक राजा, जो ऋतंभर राजा का पुत्र था । इसका पिता ऋतंभर परम रामभक्त, गो-सेवक एवं दानी राजा था । राम के अश्वमेध यज्ञके समय, उसका अश्वमेधीय अश्व शत्रुघ्न के द्वारा इसकी नगरी में लाया गया । उस समय इसने शत्रुघ्न का सहर्ष स्वागत किया, एवं अश्वरक्षक बन कर उसके साथ यह आगे बढ़ा [पद्म. पा. ३०-३२]

Comments | अभिप्राय

Comments written here will be public after appropriate moderation.
Like us on Facebook to send us a private message.