Dictionaries | References

सत्यधृति (सौचित्य)

n.  पाण्डव पक्ष का एक महारथी योद्धा, जो सुचित राजा का पुत्र था [म. उ. परि. १.१४.१२] । पाण्डवपक्ष में इसकी श्रेणि ‘रथोदार’ थी, एवं स्वयं भीष्म ने भी इसके युद्धकौशल्य की स्तुति की थी । यह अस्त्रविद्या, धनुर्वेद एवं ब्राह्मवेद में पारंगत था [म. द्रो. २२.४८] । द्रौपदी स्वयंवर में यह उपस्थित था । इसके रथ के अश्व लाल रंग के थे, एवं सुवर्णमय विचित्र कवचों से वे सुशोभित थे । भारतीय युद्ध के आरंभ में इसने घटोत्कच की सहायता की थी [म. भी. ८९.१२] । अंत में द्रोण ने इसका वध किया [म. क. ४.८३]

Comments | अभिप्राय

Comments written here will be public after appropriate moderation.
Like us on Facebook to send us a private message.